क्या 5, 10 और 100 रुपये के नोट हो जाएंगे बंद, देखिए RBI की रिपोर्ट…..

भारत में अंग्रेजों द्वारा मनी लांड्रिंग की देखभाल के लिए केंद्रीय बैंक की स्थापना की गई थी.उस समय रिजर्व बैंक एक्ट 1934 लाया गया और मुंबई में 1935 में भारतीय रिजर्व बैंक की स्थापना की गई.आजादी के बाद 1 जनवरी 1949 को भारतीय रिजर्व बैंक का राष्ट्रीयकरण कर दिया गया.रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया में टॉटल 21 सदस्य होते है.भारतीय रिजर्व बैंक काम देश में भारतीय मुद्रा का स्थायी करण करना होता है.देश में स्थित सभी बैंकों की देखरेख करती है एवं वहा कोई वितीय लेनदेन में धोखाधड़ी नहीं हो इसलिए मॉनिटरिंग करती है.हाल ही में देश में एक अफवाह उड़ी थी जिसके बारे ने भारतीय रिजर्व बैंक को अपना प्रेस नोट्स जारी करना पड़ा था.

यह अफवाह थी कि देश में पुरानी करेंसी के 5 रुपए, 10 रुपए और 100 रुपए के नोटो कि पुरानी सीरीज जल्द बंद हो जाएगी.जैसे ही ये खबर बाहर आई लोगो मे हड़कंप मच गया था.इस पर आरबीआई ने रिपोर्ट को ग़लत बताते हुए कहा कि पुराने करेंसी नोट मार्च से अमान्य नहीं होगे.इस पर कई न्यूज चैनल एक रिपोर्ट का बयान दे रहे थे कि मार्च तक यह जल्दी ही बंद हो जाएगा.प्रेस सूचना ब्यूरो यानी पीआईबी के फैक्ट चेक ने यह बात स्पष्ट करते हुए कहा कि यह रिपोर्ट गलत है.रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने ऐसा कोई डिसीजन नहीं लिया है.आपको बता दे आरबीआई ने 2018 में 10 रुपए के नए नोट बाजार में पेश किए थे.जो पुराने नोटों से काफी अलग है.2019 में रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने 100 रुपए के नए लैवेंडर रंग के नोट भी जारी किए थे.जो बाज़ार में पहले से उपस्थित नोटो से अलग है.उसके साथ 200 का भी नोट बाजार में है जो ऑरेंज रंग का है.2017 की नोटबंदी के बाद बाजार में पुराने 500 एवं 1000 के नोट बंद कर दिए गए थे.जिसके बाद देश में 500 के नए नोट चलन में आए वहीं सबसे बड़ी कोरेंसी में 2000 का नोट जारी किया को गुलाबी रंग का है.हाल ही में आरबीआई के गवर्नर सुशील अरोड़ा है ।

Check Also

সচিবদের অনুরোধেও রাজি হলেন না প্রধানমন্ত্রী

প্রধানমন্ত্রীর ঘোর আপত্তির মুখে বাদ গেল সোলার পার্ক থেকে তার নিজের নাম। মঙ্গলবার একনেক বৈঠকে …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *