23 की उम्र में ही ये महिला बन गई 11 बच्चों की माँ,चाहती है 100 बच्चों का परिवार

दुनिया में हैरान करने वाली कई खबरें अक्सर सुनने में आती रहती हैं । आज हम आपको रूस में रहने वाली 23 वर्षीय महिला के बारे में बताने जा रहे हैं जो इतनी कम उम्र में 11 बच्चों की मां है। जी हां यह सुनने में आपको हैरानी हो सकती है।

23 की उम्र में ही ये महिला बन गई 11 बच्चों की माँ,चाहती है 100 बच्चों का परिवार

रूस में रहने वाली क्रिस्टीना ओज्टर्क 22 वर्ष की हैं क्रिस्टीना को बच्चों से विशेष लगाव है। और यही कारण है कि 23 वर्ष की उम्र में क्रिस्टीना 11 बच्चों की माँ बन चुकी है। हालांकि क्रिस्टीना ने इन 11 बच्चों का पालन पोषण कर रही हैं। लेकिन भविष्य में वे और बच्चों की माँ बनने की चाहत भी रखती हैं।

23 की उम्र में ही ये महिला बन गई 11 बच्चों की माँ,चाहती है 100 बच्चों का परिवार

एक इंटरव्यू के दौरान क्रिस्टिना ने यह बताया कि उन्होंने छह साल पहले केवल एक बेटी को जन्म दिया था। उसके बाद किसी भी बच्चे को क्रिस्टीना ने खुद जन्म नहि दिया है। बल्कि इन सभी का जन्म सेरोगेसी टेक्नोलॉजी के जरिये हुआ है।

23 की उम्र में ही ये महिला बन गई 11 बच्चों की माँ,चाहती है 100 बच्चों का परिवार

क्रिस्टीना ने यह सभी बच्चे सेरोगेसी के द्वारा पैदा किये हैं। इन बच्चों ने भले ही क्रिस्टीना के पेट से नही जन्मे पर बच्चों के जेनेटिक्स उनके ही हैं। क्रिस्टीना और उनके पति कई बच्चे पैदा करना चाहते हैं। इस अपर क्लास कपल को इनके सोशल मीडिया पर यह कहते हुए देखा गया था कि इनकी चाहत है 105 बच्चों की है।

23 की उम्र में ही ये महिला बन गई 11 बच्चों की माँ,चाहती है 100 बच्चों का परिवार

जब इस बात करि गई तो उनका कहना था कि,”हम संख्या को लेकर के पूरी तरह क्लियर नही हैं। अभी हम निश्चित संख्या का निर्णय नही कर पाए हैं। पर यह तो निश्चित है कि हम 11 पर रुकने नही वाले। मुझे ऐसा लगता है हर बात को लेकर वक्त तय है,और उसके हिसाब से ही हमें सोचना चाहिए।”

23 की उम्र में ही ये महिला बन गई 11 बच्चों की माँ,चाहती है 100 बच्चों का परिवार

क्रिस्टीना का परिवार जॉर्जिया के बातुमी शहर में निवास करता है। यहां पर सरोगेसी के लिए महिलाओं का उपयोग करने पर किसी भी तरह की कोई आपत्ति नही है।सेरोगेसी इस शहर में गैर कानूनी नही है। सेरोगेसी की पूरी प्रक्रिया की लागत 8 हजार यूरो लगभग 7 लाख रूपए है। क्रिस्टीना के अनुसार उन्हें 100 बच्चे चाहिए जिसके लिए उन्हें लगभग 70 करोड़ रूपये खर्च करने होंगे।

क्रिस्टीना बताती है कि सेरोगेसी की पूरी प्रक्रिया की जिम्मेदारी उस क्लिनिक की होती है जिसमे बे सेरोगेसी के लिए जाती हैं। यह क्लिनिक बातुमी में स्थित है। निजी तौर पर वे या उनके परिवार का कोई भी व्यक्ति इन सेरोगेट महिलाओं से सम्पर्क नही कर सकता। क्लिनिक ही इनसे सम्पर्क करता है,और सारी जिम्मेदारी भी क्लिनिक की होती है।

Check Also

ভোটার কার্ড দেখালেই ভ্যাকসিন, মন্ত্রিপরিষদ বিভাগে নতুন সিদ্ধান্ত

আর রেজিস্ট্রেশন নয়, আগামী ৭ আগস্ট থেকে ১৮ বছর বয়সী সকলে নিজের ভোটার আইডি অর্থাৎ …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *